Rahat Rashi swikrit: भोपाल। राज्य शासन ने 11 से 14 फरवरी के बीच हुई ओलावृष्टि से फसल को हुए नुकसान के लिए 17 करोड़ से ज्यादा की राशि स्वीकृत कर दी है। यह राहत राशि वितरित करने की कार्यवाही की जा रही है।

वहीं हाल ही में हुई ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान का सर्वे समय सीमा में करने के निर्देश दिए हैं। फसलों को 50 प्रतिशत से अधिक नुकसान पर 32 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर राहत राशि देने का प्रावधान सरकार ने किया है।

राजस्व मंत्री करण सिंह वर्मा ने राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया है कि 26 एवं 27 फरवरी को हुई असामयिक वर्षा/ओला वृष्टि से हुई फसल क्षति का सर्वेक्षण समय सीमा में करें। उन्होंने कहा है कि सर्वेक्षण संवेदनशीलता के साथ किया जाये।

इन जिलों में हुई थी ओलावृष्टि (Rahat Rashi swikrit)

गौरतलब है कि 26 एवं 27 फरवरी को पश्चिमी विक्षोभ के कारण जबलपुर, शहडोल, ग्वालियर एवं नर्मदापुरम संभाग के सभी जिलों, रीवा संभाग के कुछ जिलों और सागर, दमोह, खण्डवा, इंदौर, टीकमगढ़, निवाड़ी, छतरपुर, सतना, बड़वानी, पन्ना, भोपाल, विदिशा, रायसेन, खरगोन, सिंगरौली एवं सीधी जिलों में असामयिक वर्षा हुई है।

पूर्व में हुई ओला वृष्टि पर इतनी राहत राशि स्वीकृत (Rahat Rashi swikrit)

मंत्री श्री वर्मा ने बताया है कि पूर्व में 11 से 14 फरवरी 2024 के मध्य हुई असामयिक वर्षा एवं ओलावृष्टि से प्रभावित 8 जिलों में सर्वे के बाद 25 तहसीलों के 196 गाँवों के 16 हजार 481 किसानों को 17 करोड़ 81 लाख रूपये की राहत राशि वितरित करने की कार्यवाही की जा रही है।

शाजापुर जिले में किया मुआयना (Rahat Rashi swikrit)

राजस्व मंत्री श्री वर्मा ने शाजापुर जिले में फसलों का निरीक्षण किया। यहां उन्हें किसानों ने बताया कि ओलावृष्टि से गेहूँ चना मसूर, धनिया प्याज आदि की फसल को नुकसान हुआ है। मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि सरकार, किसानों के साथ है। प्रभावित फसलों का सर्वे करने के बाद राहत राशि दी जायगी।

पूरे प्रदेश में चल रहा फसल सर्वे (Rahat Rashi swikrit)

इसके निर्देश अधिकारियों को दिए गए है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव के निर्देश पर वह ओला प्रभावित फसलों का निरीक्षण करने आए है। पूरे प्रदेश में ओला प्रभावित फसलों का सर्वे किया जा रहा है।

नुकसान के आधार पर राहत राशि (Rahat Rashi swikrit)

राजस्व मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि फसलों के नुकसान के आधार पर राहत राशि दी जाती है। फसल में 50 प्रतिशत से अधिक नुकसान होने पर 32 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर राहत राशि देने का प्रावधान मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की सरकार ने किया है। कालापीपल विधायक घनश्याम सिंह चन्द्रवंशी सहित राजस्व विभाग के अधिकारी मंत्री श्री वर्मा के साथ थे।

Admin
Admin  

Related Articles

Next Story
Share it