IMD Alert MP : मौसम विभाग ने इन जिलों के लिए जारी की ओले गिरने और बारिश की चेतावनी

IMD Alert MP : मध्यप्रदेश में अभी मौसम का मिजाज सुधरने के कोई आसार नहीं है। मौसम विभाग भोपाल ने अगले कुछ घंटों में एक बार फिर प्रदेश के कई जिलों में ओलावृष्टि, आंधी-तूफान के साथ बारिश और वज्रपात की चेतावनी दी है। आज भी प्रदेश में कई स्थानों पर बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई है।

मौसम केंद्र भोपाल ने सोमवार को जारी बुलेटिन में अगले 24 घंटों में कई जिलों में ओले गिरने और बारिश की चेतावनी दी है। विभाग ने नर्मदापुरम, बैतूल, पांढुर्णा, छिंदवाड़ा और सिवनी जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। विभाग के अनुसार इन जिलों में कहीं-कहीं ओलावृष्टि व गरज-चमक के साथ बारिश हो सकती है। साथ ही वज्रपात के साथ आंधी-तूफान और झोकेदार हवाएं चलेंगे। जिनकी रफ्तार 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटा होगी।

इसके अलावा डेढ़ दर्जन से ज्यादा जिलों के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। इनमें उमरिया, नरसिंहपुर, बालाघाट और जबलपुर जिलों में कहीं-कहीं ओलावृष्टि व गरज-चमक के साथ बारिश हो सकती है। साथ ही वज्रपात के साथ आंधी-तूफान और झोकेदार हवाएं चलेंगे। जिनकी रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा होगी।

हरदा और मंडला जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश, वज्रपात के साथ आंधी-तूफान और झोंकेदार हवाएं चलेगी। जिनकी रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर होगी। वहीं रायसेन, सीहोर, भोपाल, बुरहानपुर, खंडवा, देवास, सतना, मैहर, अनूपपुर, शहडोल, डिंडोंरी, कटनी, दमोह और सागर जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश और वज्रपात के साथ आंधी-तूफान चलने की चेतावनी दी गई है।

आज भी कई जगह हुई ओलावृष्टि (IMD Alert MP)

सोमवार को भी बैतूल सहित कुछ जिलों में ओलावृष्टि होने की खबरें हैं। ओले गिरने से फसलों को जमकर नुकसान पहुंचा। वहीं बैतूल के भीमपुर ब्लॉक में आकाशीय बिजली गिरने से 15 बकरियों की मौत हो गई। बैतूल, शाहपुर और चिचोली क्षेत्र में काफी देर तक तेज बारिश हुई।

इसलिए बने हैं यह हालात (IMD Alert MP)

  1. मौसम विभाग के अनुसार वर्तमान में पश्चिमी विक्षोभ मध्य क्षोभमंडल की पछुआ पवनों के बीच 55 डिग्री पूर्व देशांतर के सहारे 30 डिग्री उत्तर अक्षांश के उत्तर में अवस्थित है।
  2. वहीं पूर्व मध्य अरब सागर से लेकर दक्षिण-पश्चिमी मध्यप्रदेश तक माध्यम समुद्र तल से 1.5 किलोमीटर की ऊंचाई तक ट्रफ लाइन विस्तृत है।
  3. इनके प्रभाव में दक्षिण-पश्चिमी हवाओं और पूर्व हवाओं के संयोजन के कारण मध्य प्रदेश में नमी आ रही है। साथ ही 29 फरवरी से अगले पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की संभावना भी बनी है।
Admin
Admin  

Related Articles

Next Story
Share it